आदिवासियों को कमलनाथ सरकार का तोहफा, बच्चे के जन्म पर सरकार कराएगी भोज

भोपाल। कांग्रेस सरकार प्रदेश में आदीवासी समाज में बच्चे के जन्म लेने पर भोज कराएगी। यह कदम उठाने के पीछे अपने परम्परागत बोट बैंक को साधने की तैयारी सरकार कर रही है। आप को बता दे कि यह झाबुआ में विधानसभा उपचुनाव को लेकर आदिवासियों को साधने का प्रयास किया जा रहा है। विश्व आदिवासी दिवस पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आदिवासियों को साहूकारों के कर्ज से मुक्ति के साथ ही उनके लिए कई घोषणा की थी।अब सरकार ने आदिवासियों को एक और तोहफा देते हुए उनके परिवारों में बच्चे के जन्म पर भोज कराने का निर्णय लिया है। साथ ही आदिवासियों के परिवार में किसी की मौत होने पर सरकार की तरफ से अनाज दिया जाएगा। यह जानकारी मंगलवार को प्रदेश के जनसम्पर्क मंत्री पीसी शर्मा ने मीडिया से बातचीत में दी उन्होंने बताया कि हमारी सरकार आदिवासियों के यहां बच्चा होने पर भोज देगी। इसके लिए सरकार ने नियमावली जारी कर दी है। मुख्यमंत्री मदद योजना के तहत यह प्रावधान किया गया है। सरकार की इस योजना का लाभ राज्य के 89 आदिवासी विकासखंडों को मिलेगा। मृत्युभोज के लिए सरकार संबंधित परिवार को अनाज वितरण भी करेगी। जनसम्पर्क मंत्री ने कहा कि यह हमारी सरकार के द्वारा उठाया जाने वाला अच्छा कदम है। हम आदिवासी वर्ग के विकास की चिंता करते हैं।