No2politics

Stay connected, stay informed

image24

Get the region's top stories!

DAILY NEWS

image25

केले पर GST लेने वाले फाइव स्टार होटल पर ठोका जुर्माना

 


नईदिल्ली। सिने कलाकार राहुल बोस को 422 रुपये के दो केले देने वाले फाइव स्टार होटल पर चंडीगढ़ प्रशासन ने 25 हजार रुपये का जुर्माना लगा दिया है।

चंडीगढ़ के जेडब्ल्यू मैरियट होटल ने पिछले दिनों होटल में रुके राहुल बोस को 422 रुपये 50 पैसे में नाश्ते में मंगाए गए दो केलों का बिल थमाया था। राहुल ने एक वीडियो ट्वीट कर इस पर तंज किया था। बिल में होटल ने दो केले पर CGST और UTGST के तौर पर 66 रुपये वसूल किये थे। राहुल के ट्वीट पर लोगों ने टैक्स सिस्टम पर को लेकर सरकार की भी खिंचाई की थी। 

इस मामले में चंडीगढ़ के कर विभाग ने होटल पर यह कहते हुए 25 हजार रुपये का जुर्माना लगा दिया कि उसने केले जैसी उस वस्तु पर टैक्स वसूला, जो करमुक्त है।

image26

अब नरोत्तम बोले- छोटी मछलियां पकड़ना बंद करें कमलनाथ

 


भोपाल। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव द्वारा भाजपा के दो विधायकों से सरकार के पक्ष में मतदान कराने को चूहा फंसाने जैसा बताने के बाद अब पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्र ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को चुनौती दी है कि ई-टेंडरिंग मामले में कोई सबूत हो तो कार्रवाई करके दिखाएं। उन्होंने कहा कि कार्रवाई के नाम पर चपरासी और बाबू जैसी छोटी मछलियों को पकड़ने से उन्हें लगता है कि हमारा अभियान प्रभावित हो जाएगा तो वे यह भ्रम दूर कर लें। बता दें कि ईओडब्ल्यू ने इस मामले में शुक्रवार को पूर्व मंत्री मिश्र के पूर्व निज सचिव वीरेंद्र पांडे और निर्मल अवस्थी को गिरफ्तार किया था। 

 नरोत्तम मिश्र ने शनिवार को मीडिया से चर्चा में मिश्र ने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार राजनीति की गलत परंपरा डाल रही है. राजनीति मूल्यों पर आधारित होती है, न कि झूठे और तथ्यहीन आरोपों पर। नरोत्तम ने कहा कि ई-टेंडर में टेंपरिंग का शक होने पर हमारी (भाजपा) सरकार ने ही जांच शुरू कराई थी और उन टेंडरों को उसी समय निरस्त कर दिया था, जिनमें टेंपरिंग का संदेह था। टेपरिंग वाला एक भी टेंडर मंजूर नहीं किया गया और इनमें एक पैसे का भी काम धरातल पर नहीं हुआ था। कांग्रेस सरकार ने उन्हीं लोगों को ठेके दे दिए, जिनके खिलाफ पिछली सरकार ने जांच के आदेश दिए थे। कमलनाथ सरकार की राजनीतिक विद्वेषपूर्ण कार्रवाई की जितनी निंदा की जाए उतनी कम है। इस मामले में बाबू और चपरासी जैसी छोटी मछलियों को पकड़ा जा रहा है, जबकि ई-टेंडर स्वीकृत करने वाली कमेटी मुख्य सचिव स्तर के अधिकारी की अध्यक्षता में निर्णय करती है। नरोत्तम ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को चुनौती दी है कि कोई भी सबूत हो तो कार्रवाई करके दिखाएं।

image27

बारिश ने रोका वंदेमातरम मार्च, मीटिंग हॉल में हुआ कार्यक्र


भोपाल। कमलनाथ सरकार में नए और भव्य स्वरूप में शुरू हुआ सामूहिक वंदेमातरम गायन इस बार बारिश की वजह से संक्षिप्त कार्यक्रम में तब्दील हो गया। अगस्त की पहली तारीख को आज मंत्रालय के 506 नंबर के सभागार में मुख्यमंत्री कमलनाथ और जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा की मौजूदगी में वंदेमातरम और जन-गण-मन का गायन किया गया।

प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद से हर माह की पहली तारीख को शौर्य स्मारक से पुलिस बैंड के साथ राष्ट्रभक्ति के गीतों के बीच पैदल मार्च मंत्रालय के सामने स्थित पार्क तक जाता था और वहां पर वंदेमातरम गायन होता था। पिछले छह महीनों से चल रहा यह क्रम आज बारिश के कारण टूट गया और सीधे मंत्रालय में ही राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत गाया गया। मुख्यमंत्री और जनसंपर्क मंत्री भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए। उनके साथ जिला कांग्रेस अध्यक्ष कैलाश मिश्रा, कांग्रेस नेता आभा सिंह, अवनीश भार्गव सहित विभिन्न वर्ग के लोग और आला अधिकारी तथा मंत्रालय के कर्मचारी भी इस अवसर पर मौजूद थे। बता दें कि सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी विभाग प्रमुखों को इस आयोजन में भागीदारी के निर्देश के साथ ही बता दिया था कि यदि बारिश होती है तो आयोजन मंत्रालय के पुराने भवन के 506 नंबर के सभागार में होगा। हालांकि कुछ लोग सुबह शौर्य स्मारक भी पहुंचे थे, लेकिन वहां से वे मंत्रालय जाकर कार्यक्रम में शामिल हुए।

Recent Issues

Download a PDF of a recent issue, or subscribe below to receive our latest articles in your inbox.

Files coming soon.

Reviews

Subscribe

Sign up to get each issue delivered straight to your inbox.

Contact Us

Send Message

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

What are you thinking about?

Have a story idea for us? Would you like to write for us? 

Send us a message and let us know what you are thinking about.

No2politics