रायपुर एयरपोर्ट का हो सकता है निजीकरण, एयरपोर्ट अथॉरिटी ने केंद्र से की सिफारिश!

रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) स्थित स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट  (Swami Vivekananda Airport) प्राइवेट हाथों में जा सकता है. मिली जानकारी के मुताबिक रायपुर एयरपोर्ट का निजीकरण हो सकता है. सूत्रों की मानें तो एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (Airport Authority of India) ने केंद्र सरकार से रायपुर समेत छह और हवाई अड्डों के निजीकरण की सिफारिश की है. रायपुर सहित अमृतसर (Amritsar), वाराणसी (Varanasi), भुवनेश्वर (Bhubaneswar), इंदौर (Indore) और तिरुचिरापल्ली (Tiruchirappalli) का नाम शामिल है. मालूम हो कि इससे पहले केंद्र सरकार छह हवाई अड्डों का निजीकरण (Privatization) पहले की कर चुकी है. निजीकरण के पीछे केंद्र ने सुविधाओं में सुधार करने का हवाला दिया है. गौरतलब है कि 5 दिसंबर को निजीकरण के मसले को लेकर एक बैठक होने वाली है. इसके बाद इस मुद्दे पर फैसला सामने आ सकता है.

पहले भी किया जा चुका है निजीकरण

मििली जानकारी के मुताबिक केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (PM Narendra Modi) जल्द 6 और एयरपोर्ट को निजी हाथों में सौंपने (Airport Privatization) की तैयारी में कर रही है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक 6 और एयरपोर्ट को निजी हाथों में सौंपने के लिए अगले चरण की शुरुआत हो गई है. दूसरे चरण में 6 और एयरपोर्ट की पहचान की गई है इसमें वाराणसी, रायपुर, इंदौर, भुवनेश्वर, अमृतसर, तिरची शामिल हैं. अभी एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया इन एयरपोर्ट को ऑपरेट करती है. आपको बता दें कि पहले चरण में 6 एयरपोर्ट की निलामी पहले ही हो चुकी है. रायपुर एयरपोर्ट को मिल चुका है कई अवॉर्ड

बता दें कि हालही में एयरपोर्ट सर्विस क्वॉलिटी में रायपुर के विवेकानंद एयरपोर्ट (Raipur Airport) को देशभर में 5वां स्थान मिला छा. ACI-ASQ रैंकिंग के आधार पर रायपुर एयरपोर्ट को ये रैंकिंग मिली है. इससे पहले भी रायपुर एयरपोर्ट को कई अवॉर्ड मिल चुका हैं. साथ ही रायपुर एयरपोर्ट डोमेस्टिक फाइट के मामले में भी अपनी रैंकिंग बेहतर कर रहा था. इस साल रैंकिंग सुधरकर टॉप थ्री एयरपोर्ट में रायपुर केशामिल होने की संभावना जताई जा रही थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *