महू दुष्कर्म: कमलनाथ बोले घटना निंदनीय; राकेश सिंह का पलटवार, बोले- सरकार बयानबाजी बंद कर कार्रवाई करे

भोपाल. महू दुष्कर्म के मामले में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर घटना को निंदनीय बताया। इस पर पलटवार करते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि बच्चियों से दरिंदगी अक्षम्य है और बयानबाजी छोड़कर कमलनाथ सरकार को कार्रवाई करना चाहिए। राकेश सिंह ने कहा कि प्रदेश में बीते महीनों में मासूम बच्चियों से दरिंदगी की घटनाएं काफी बढ़ गई हैं। इसे रोकने और अपराधियों पर कार्रवाई होनी चाहिए। 

सीएम कमलनाथ ने कहा है कि इंदौर के महू में एक मासूम बालिका से दुष्कर्म व हत्या की घटना बेहद निंदनीय। आरोपियों को शीघ्र पकड़ने के व कड़ी कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। परिवार की हर संभव मदद की जाएगी। इधर, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज ने अपने ट्वीट करके कहा है कि हमने अपने कार्यकाल में बच्चियों के साथ बलात्कार करने वालों को फांसी की सज़ा देने का कानून बनाया था। होता यह है कि मामला पहले लोअर कोर्ट, फिर हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में जाता है जिससे न्याय मिलने में देरी होती है। उन्होंने कहा कि दुष्टों के साथ दुष्टता का ही व्यवहार होना चाहिए। जो तकलीफ ये दरिंदे बेटियों को देते हैं, वही तकलीफ इन्हें देकर मार देना चाहिए। आखिर कब तक बेटियां दुष्कर्म का शिकार होती रहेंगी। वहीं

प्रदेश में मासूमों के साथ दरिंदगी की घटनाएं बढ़ गई हैं
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि प्रदेश में महीनों में मासूम बच्चियों से दरिंदगी की घटनाएं काफी बढ़ गई हैं। हर दिन कहीं न कहीं, कोई न कोई मासूम दरिंदगी की शिकार हो रही है। इस वहशीपन को न तो बर्दाश्त किया जा सकता है और न ही इसके लिए माफी दी जा सकती है। प्रदेश की कमलनाथ सरकार को बयानबाजी छोड़कर ऐसे ठोस कदम उठाना चाहिए, जिनसे इस तरह की घटनाओं को रोका जा सके। 

प्रदेश के महू में मासूम बच्ची से दरिंदगी और जबलपुर में एक किशोरी की बर्बरतापूर्ण हत्या की घटनाओं की निंदा करते हुए कही। राकेश सिंह ने महू में दरिंदगी की शिकार मासूम बच्ची और जबलपुर में एक युवक द्वारा निर्ममतापूर्वक मौत के घाट उतारी गई किशोरी की आत्मिक शांति की कामना करते हुए पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं को रोकने की जिम्मेदारी समाज के साथ-साथ सरकार की भी है। 

अपराध होने से पहले ही रोकना होगा : डीजीपी 
मप्र के डीजीपी वीके सिंह ने कहा है कि महिलाओं एवं बच्चियों की सुरक्षा के लिहाज से ‘बल्‍नरेवल स्‍पॉट’ चिन्हित करके शिक्षण संस्‍थानों के आसपास एवं अन्‍य स्‍थानों पर पुलिस की विशेष चौकसी हो जिससे महिलाएं अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सके। डीजीपी सिंह ने पीएचक्यू में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए प्रदेश भर के पुलिस आईजी, डीआईजी और पुलिस अधीक्षकों को दिए। डीजीपी सिंह ने सोमवार को कहा कि अपराधियों को पकड़ने से भी महत्‍वपूर्ण ये है कि अपराध होने ही न पाएं। ऐसा तभी संभव होगा जब प्रोफेशनल तरीके साथ पुलिसिंग की जाएगी। इसके लिए सूचना तंत्र मजबूत करना बेहद जरूरी है। 

महिलाओं व बच्चों के अपराधियों की हिस्ट्रीशीट बनाएं
डीजीपी सिंह ने कहा कहा कि प्रदेश के महानगरों इंदौर, जबलपुर, ग्‍वालियर और भोपाल में महिलाओं और बच्‍चों के खिलाफ अपराध करने वाले आरोपियों की हिस्‍ट्रीशीट बनाएं और इस जानकारी का अपराध को रोकने में उपयोग करें। सिंह ने जेल से जमानत व पैरोल पर रिहा होने वाले आरोपियों पर नजर रखने पर भी विशेष जोर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *